Sunday, November 4, 2018

Concern Meaning in Hindi - कंसर्न का हिंदी और इंग्लिश मतलव

Concern Meaning in Hindi and English : आज हम बात करेंगे वर्ड कंसर्न का हिंदी और इंग्लिश मतलव(मीनिंग) को लेकर. Meaning of Concern in Hindi and English से सम्बंधित पूरी जानकारी को अच्छे तरीके से जानने के लिए इस आर्टिकल को आखिर तक अवश्य पढ़े. तो चलिए आगे बड़कर शुरू करते है.

Concern Meaning in Hindi and English :

Meanings of concern in Hindi -

Noun 
  •  कारखाना.
  •  कारोबार.
  •  चिन्ता.
  •  दिलचस्पी
  •  प्रयोजन
  •  प्रसंग
  •  मतलब
  •  मामला    

Meaning of concern in English -

Noun
1. Something that interests you because it is important or affects you.
2. Something or someone that causes anxiety; a source of unhappiness.
Example
- It's a major worry.

फ्रेंड्स अब तक तो आपके द्वारा ऊपर बताये कंसर्न के प्रत्येक शोर्ट मतलवो को जान लिया गया होगा जिसे पढ़कर आपको इसे समझने में मदद मिली होगी और साथ ही एक समझदारी जाग्रत हुयी होगी लेकिन डिटेल्स में कुछ ज्ञात नही हुआ होगा क्योकि एक शब्दों को पढ़कर वे सभी जानकारी नही मिल सकती है जो इसके प्रत्येक पहलुओ को आपके सामने लाकर रख दे. 

दोस्तों हमने इसी बात का ध्यान रखते है ये आर्टिकल इन्ही सब बातो को लेकर विस्तार वर्णन उदाहरण, इनके प्रभाव के उपयोग को बड़े ही शानदार तरीके से पेश किया ताकि इन्हें पढ़ने के बाद आपके दिमाग में एक कहानी बने जो इस शब्द सम्बंधित होने के कारण आसानी से याद रह सके और जरुरत पढ़ने पर बहुत अच्छे से यूज़ में लिया जा सके, तो देरी ना करते हुए फटाफट आगे चलते है.

Concern Meaning in Hindi

What is the Meaning of Concern in Hindi and English :

सभी शब्दों के मतलवो को विस्तृत जाने -

- काम, इस शब्द से हम सभी अच्छे से जानने के साथ इसका daily उपयोग करते हुए रोजमर्रा की जिंदगी को जीते है. जिस तरह सोना, खाना - पीना, घूमना - फिरना आदि जीवन की एक्टिविटी को करते है वैसे जीवन के निर्वाह के लिए काम एक अभिन्न चीज की तरह ही है जिसका होना किसी भी हाल में जीवन को चलाने के लिए जरुरी होता है. 

उदाहरण के तौर पर हम और हमारे आस - पास के बहुत या कहे सभी लोग daily ही कुछ ना कुछ कर्म करते हुए पैसे कमाते है. कुछ लोग नौकरी, कुछ व्यापार आदि करते हुए अपनी लाइफ का गुजर वसर करते है.

- चिंता, यह भी काफी फेमस और प्रत्येक बुद्धि जीवी मानव से रिलेट कर पाते है. चिंता करना या होना यह आटोमेटिक घटना होती है इसके अक्सर होता ये है कि जब कोई कार्य का परिणाम पाना चाहता है या किसी प्रकार की वस्तु की चाहत या फिर किसी के द्वारा कुछ कह देने के चलते भावनात्मक रूप से आघात होने के कारण यह प्रक्रिया मानसिक अशांति में बदल जाती है जो कि कुछ समय तक बने रहने के कारण चिंता का रूप लेने लगती है. 

चिंता का एक कारण और जीवन में लगातार आ रही परेशानियो को सुलझाने से निराश होने के चलते भी देखने को मिलता है हालाकि प्रत्येक इन्सान के जीवन में आती ही रहती है लेकिन कुछ लोग इससे प्रभावित होकर चिंता बना लेते है. परन्तु इसके विपरीत कुछ व्यक्ति इसको फेस करना सीख जाते है जो अंतत चिंता इन लोगो के लिए उस चीज के समान हो जाती है जिसका आना - जाना लगा रहना है.

- संबंध, हम लोग एक भारतीय समाज में रहते जहाँ सभी अपने परिवारों और समाज के साथ संस्कृति को फॉलो करते हुए मर्यादा में जीते है. यहाँ सभी लोग भावनात्मक रूप से जुड़े रहकर व्यवहार करते है इस प्रकार की संस्कृति और बिचार इन संबंधो के लिए अत्यधिक महत्वपूर्ण है. 

फिलिंग से जुड़ी इस दुनिया में प्रत्येक व्यक्ति आपस में भावनात्मक रूप से जुड़े हुए जो एक - दूसरे को किसी ना किसी उद्देश्य से बंधन में बांधे रखते है. हालाकि मानव भावनाओ से लिप्त एक प्राणी है जो किसी भी पसंदीदा वस्तुओ, लोगो, चीजो से खुद को आसानी से जोड़ने की कोशिश करता है और अपने संबंधो को बनाने के लिए आगे बड़ता है.

प्रत्येक वर्ड्स के इफ़ेक्ट को जानिए -

- काम, जैसा कि हमने ऊपर बताया काम जीवन का अभिन्न अंग है और इसे सभी को इस जीवन में रहते हुए अवश्य ही करना होता है. इसके भी अलग - अलग रूप देखे जाते है अच्छे और बूरे या ज्यादा और कम. प्रत्येक इन्सान अपनी - अपनी जरूरतों के अनुसार कार्य को चुनकर लगातार ग्रो करता है या फिर नीचे भी आ सकता है. अगर परिणाम की बात करे तो ये कुछ भी हो सकते है. किसी कार्य के रिजल्ट समझे जा सकते है तो किसी का अदाजा लगाना भी मुश्किल होता है.

- चिंता, हालाकि हमारा दिमाग मांसपेसियो का बना एक पावरफुल सोचने वाली मशीन की तरह इसमे daily 60 हजार से ज्यादा बिचार आते और जाते है और यह प्रक्रिया बहुत से मामलो में खुद व खुद घटित होती है आने वाले बिचारो पर आपका ज्यादा कण्ट्रोल नही होता है लेकिन एक अच्छी आप अपनी मर्जी से ध्यान को हटा कर अपने बिचारो को अलग तरह से बदलकर अपनी जिंदगी बदल सकते है. 

जब हमारे द्वारा कुछ नेगेटिव विचारो को पकड़ लेता है तब इस पर विचार करना ही चिंता का कारण बनता है, देखा जाए तो यह एक प्रकार से विचार ही है ओए इसे पूरी तरह बूरा भी नही कह सकते है क्योकि यह कई बार उस चीज से जुड़े उन पहलुओ को भी बता देते है जो हमारे लिए बाद में सही सावित होता है लेकिन यदि बिना कारण चिंता करना यह समाज, परिवार और देश की प्रगति में बांधक बनते है तो करना यही है कि अच्छे से समझदारी के द्वारा इनका हल निकाले.

इनके उपयोग -

- काम, रोज के कर्मकांड को दर्शाने हेतु उपयोग में लेते है. 
- चिंता, बिचारो और भावनाओ की एक नकारात्मक स्थिति को बतलाने हेतु यूज़ में लिया जाता है.
- संबंध, आपस में जुड़े रिस्तो को बतलाने के लिए इस शब्द का इस्तेमाल करते है.

मुझे उम्मीद है दोस्तों आपको यह पोस्ट Concern Meaning in Hindi and English से बहुत कुछ जानने और समझने को मिला होगा. यह जानकारी कैसी लगी ? अपने सुझाव हमारे साथ अवश्य शेयर करे. लगातार इसी तरह इनफार्मेशन के लिए हमसे जुड़े रहे तथा अधिक शब्दों के मीनिंग के लिए ऊपर सर्च बॉक्स का इस्तेमाल अवश्य करे. 

No comments:

Post a Comment